26 जनवरी गणतंत्र दिवस Speech In Hindi – Speech on Republic Day 2024 for Students

26 January Speech In Hindi 2024:- जैसे के हम सभ जानते है प्रतिवर्ष गणतंत्र दिवस पर भाषण (Republic Day Speech in Hindi)  मनाया जाता है 1950 दिन 26 जनवरी के दिन ही देश का संविधान लागु किया गया था इस दिन को देश के सरकारी दफ्तरों,स्कूलों,प्राइवेट सेक्टर में बहुत उत्साह के साथ मनाया जाता है क्या आपको मालूम है 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में घोषित किया था लेकिन गणतंत्र दिवस 26 जनवरी के दिन मनाया जाता है हम सभी जानते है 26 जनवरी के दिन सभी स्कूल में भाषण प्रतियोगता आयोजित की जाती है जिसमे बहुत से बच्चे हिस्सा लेते है Republic Day Speech in Hindi for School Students अगर आप भी उनमे से एक है और एक दमदार स्पीच तैयार करना चाहते है तो इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़े क्योंकि आज हम आपको इस लेख की सहायता से 26 January Speech In Hindi से सम्बन्धी जानकारी प्रदान करने जा रहे है जो आपको अपने लिए स्पीच तैयार करने में सहायता करेगी।

26 January Speech in Hindi 2024

आदरणीय प्रधानाचार्य जी और मेरे सभी शिक्षकगण यहाँ उपस्थित मेरे प्यारे सहपाठियों आज 26 जनवरी गणतंत्र दिवस का दिन है हम सभी बेहद अच्छी तरह से जानते है की आज ही के दिन हमारे देश भारत का संविधान को देश में लागु किया गया था इसी महोत्सव को मानाने के लिए आज हम एक जगह एकत्रित हुए हैं आज के दिन हमारे देश के संविधान को लागु हुए 74 वर्ष सम्पूर्ण हो गए है इसकी आप सभी को बहुत बहुत शुभकामनाएं। आज हम आप सभी को गणतंत्र दिवस से सम्बन्धी कुछ महत्पूर्ण जानकारी साझा करने जा रहा/ जा रही हूँ।

26 जनवरी 1950 आज ही के दिन हमारे देश में संविधान को लागु किया गया था और उस दिन से और आज का दिन है 26 जनवरी को बहुत उत्साह के साथ भारतवर्ष में मनाया जाता है गणतंत्र का अर्थ जनता द्वारा जनता के लिए शासन। हमारा देश भारत एक लोकतान्त्रिक देश है भारत के इतिहास कई महान नेताओं और क्रांतिकारियों की गाथाओं से भरा हुआ है देश के संविधान की नींव डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर द्वारा रखी गई है हम सभी इस देश के वासी हैं जो अपने लोकतंत्र के लिए दुनियाभर में जाना जाता है।

  • ”सबके अधिकारों का रक्षक
  • अपना ये गणतंत्र पर्व है।
  • लोकतंत्र ही मंत्र हमारा
  • हम सबको ही इस पर गर्व है।”

हमारे भारत देश में विभिन तरह के धर्म, जाति, संस्कृतियों, परम्पराए शामिल है जो एकता की मिसाल कायम करता है देश के सभी नागरिक आज के दिन को बिना किसी भेदभाव के साथ मानाते है आज ही के दिन 26 जनवरी को हम पूर्ण स्वराज मिला,इसी दिन हम पूर्ण रूप से स्वाधीन हो गए थे।  आज हम उन सभी क्रांतिकारियों ,स्वतंत्रता सेनानियों के कारण की भारत की स्वतंत्र हवाओं में साँस ले रहे हैं आज ही के दिन प्रमुख राष्ट्रीय अवकाशों में से एक है आज के दिन 26 जनवरी 1950 को गवर्नल जनरल लार्ड माउन्ट बेटन के स्थान पर भारत के पहले राष्ट्रपति के रूप में डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद को चुना गया था इसी दिन 1950 को भारत सरकार अधिनियम -1935 को हटाया गया और भारत का संविधान लागू किया गया था। इसी के साथ आखिर में कहना चाहता/चाहती हूँ।

  • ”ऐ शान्ति और अहिंसा की उड़ती हुई परी
  • आ तू भी आ, और देख की आ गयी 26 जनवरी।
  • जय हिन्द जय भारत”
See also  🇮🇳 100 INDIA GK || भारत का सामान्य ज्ञान 2023 || GK || India Quiz || India General Knowledge

गणतंत्र दिवस पर निबंध कैसे लिखें

गणतंत्र दिवस प्रतिवर्ष 26 जनवरी को बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है आज ही के दिन हमारे देश भरता का संविधान लागु किया गया था आज ही दिन देश अंग्रेज़ो से भारतीयों को आजादी मिली थी और हमारा संविधान जिन्हे भीमराव अम्बेडकर जी ने लिखा था भारतीय संविधान के लागु होने के बाद भारत एक लोकतान्त्रिक देश बना। इसी Republic Day को 26 जनवरी एक त्यौहार के रूप में मानाया जाता है।

26 जनवरी की परेड

जैसे की हम सब जानते है की हर साल राष्ट्रीय राजधानी, नई दिल्ली में इंडिया गेट पर 26 जनवरी की खास परेड का आयोजन होता है। इस कार्यक्रम में नेताओं, पुलिस अधिकारियों, अभिनेताओं के साथ साथ आम नागरिक भी शामिल होते हैं। जो इस खास मौक़े पर राजपथ पर होने वाली इस परेड और कार्यक्रम को देखने के लिए आते हैं।

पूर्ण स्वराज (Complete independence)

भारतीय कोंग्रेस द्वारा पूर्ण स्वराज का एलान 26 जनवरी 1930 को किया गया था लाहौर अधिवेशन में यह प्रस्ताव दिया गया था की अंग्रेजी हुकूमत द्वारा 26 जनवरी 1930 को भारत को डोमिनियन का दर्जा दिया जायेगा यदि ऐसा नहीं किया जाता है तो भारत स्वयं को पूरी तरीके से स्वतंत्र घोषित कर लेगा। परन्तु अंग्रेज़ो की सरकार ने इस पर किसी तरह का कोई ध्यान नहीं दिया गया। और नहीं किसी तरह कोई निर्णय लिया गया था इसके परिमाण स्वरुप भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने 26 जनवरी 1930 को पूर्ण स्वराज घोषित किया। भारत के स्वराज की अभिलाषा कविता जोकि मैथलीशरण गुप्त द्वारा रचित है वह भी स्वराज के महत्त्व को दर्शाती है। उसकी कविता की कुछ पंक्तियाँ इस प्रकार हैं

  • ”कभी न नैतिक घातें होंगी, मुक्त मानसिक बातें होंगी;
  • विधि-विधान मे फिर निजत्व का हमको अटल गर्व होगा।
  • पक्षपात, मतभेद न होगा ग्लानि न होगी, खेद न होगा;
  • न्याय-सभाओं में विचार का प्रकटित पुण्य पर्व होगा॥”

गणतंत्र दिवस का इतिहास

भारत के संविधान को तैयार करने में 2 वर्ष 11 माह और 18 दिन का समय लगा। देश को आज़ादी मिलने के बाद 9 दिसम्बर 1947 को संविधान को बनाने की शुरुआत की गई थी कोंग्रेस द्वारा पूर्ण स्वराज 26 जनवरी के दिन घोषित किया गया था उसी दिन को और आज तक 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है संविधान को बनाने में देश की 22 समितियों ने अपना योगदान दिया था इन समितियों द्वारा ही संविधान का निर्माण किया गया है संविधान को बनाने में 308 सदस्यों ने भाग लिया था एवं यह बेहठक 114 दिन तक चली गयी थी संविधान सभा मुख्य सदस्य डॉ राजेंद्र प्रसाद, पंडित जवहरलाल नेहरू, डॉ भीमराव अंबेडकर, सरदार वल्लभ भाई पटेल आदि थे।

जैसे के हम सभ जानते है प्रतिवर्ष 26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस मनाया जाता है 1950 दिन 26 जनवरी के दिन ही देश का संविधान लागु किया गया था इस दिन को देश के सरकारी दफ्तरों,स्कूलों,प्राइवेट सेक्टर में बहुत उत्साह के साथ मनाया जाता है क्या आपको मालूम है 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में घोषित किया था लेकिन गणतंत्र दिवस 26 जनवरी के दिन मनाया जाता है हम सभी जानते है 26 जनवरी के दिन सभी स्कूल में भाषण प्रतियोगता आयोजित की जाती है जिसमे बहुत से बच्चे हिस्सा लेते है अगर आप भी उनमे से एक है और एक दमदार स्पीच तैयार करना चाहते है तो इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़े क्योंकि आज हम आपको इस लेख की सहायता से 26 january speech in hindi से सम्बन्धी जानकारी प्रदान करने जा रहे है जो आपको अपने लिए स्पीच तैयार करने में सहायता करेगी।

See also  Daily Quiz (7 January 2024) for UPSC Prelims | General Knowledge (GK) & Current Affairs Questions

Republic Day Speech Tips

  • अपने गणतंत्र दिवस के भाषण को छोटा रखे।
  • ज्यादा भारी शब्दों और वाक्यों का उपयोग ना करें।
  • जितना हो सरल भाषा में बच्चों को अपना भाषण समझाएं।
  • भाषण बोलने से पहले कई बार अभ्यास करें।
  • जब भाषण दे तो डरे नहीं और मंच पर जाकर रिलैक्स रहे।
  • भाषण देते दौरान बॉडी लैंग्वेज की तकनीकी सीखें। इससे भाषण ज्यादा अधिक प्रभावशाली होगा।

26 जनवरी पर शायरी

अलग है भाषा,
धर्म जात और प्रांत,
पर हम सब का एक है,
गौरव राष्ट्रध्वज तिरंगा श्रेष्ठ।

Desh Bhakti Shayari for Repulic Day in Hindi

चढ़ गये जो हंसकर सूली,
खाई जिन्होंने सीने पर गोली,
हम उनको प्रणाम करते हैं,
जो मिट गए देश के लिए,
हम उनको, सलाम करते हैं।

Republic Day par Shayari

मै भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूँ,
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नही है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।,

Republic Day Speech in Hindi : 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर दें यह आसान और छोटा भाषण

आदरणीय प्रिंसिपल सर, शिक्षकगण और मेरे प्यारे साथियों, आप सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं! पूरे देश में गणतंत्र दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। हम सब भी यहां भारतीय गणतंत्र दिवस का महोत्सव और जश्न मनाने के लिए जुटे हैं। यह दिन हर भारतीय को गौरवान्वित करता है। मेरे साथियों, 15 अगस्त 1947 को हमारा देश गुलामी की बेड़ियों से मुक्त जरूर हो गया था लेकिन देश की शासन व्यवस्था को चलाने के लिए हमारे पास अपना संविधान नहीं था। संविधान के बगैर देश को नहीं चलाया जा सकता। ऐसे में तब एक संविधान सभा का गठन किया गया और संविधान बनाया गया। इसमें निर्माण में डॉ. भीमराव अंबेडकर की सबसे अहम भूमिका रही। संविधान को बनने में 2 साल 11 महीने 18 दिन का समय लगा। गहन विचार विमर्श, मंथन, कई बैठकों के बाद बनाए गए इस संविधान को देश में 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया और भारत को लोकतांत्रिक, संप्रभु और गणतंत्र देश के रूप में घोषित किया गया।

प्रभावशाली भाषण के लिए सर्वोत्तम युक्तियाँ

अपना गणतंत्र दिवस भाषण बनाने के लिए नीचे दिए गए सुझावों का उपयोग करें:

  • गणतंत्र दिवस और संबंधित घटनाओं के महत्व पर गहन शोध करें।
  • अपना भाषण स्पष्ट और संक्षिप्त रखें।
  • वास्तविक भावनाओं और प्रभावशाली भाषा के माध्यम से देशभक्ति व्यक्त करें।
  • अपने उद्घाटन को एक मनोरम उद्धरण, एक किस्सा या एक विचारोत्तेजक के साथ आकर्षक बनाए रखें
  • अपने भाषण को स्पष्ट परिचय, मुख्य भाग और निष्कर्ष के साथ व्यवस्थित करें।
  • यह सुनिश्चित करने के लिए कि हर कोई आपके संदेश से आसानी से जुड़ सके, सरल भाषा का उपयोग करें।
  • स्पष्ट रूप से बोलें, अपनी आवाज़ को नियंत्रित करें और स्थिर गति बनाए रखें।
  • स्थायी प्रभाव छोड़ने के लिए आंखों का संपर्क बनाए रखें, लंबे समय तक खड़े रहें और आत्मविश्वास के साथ बोलें।
See also  Viksit Bharat Sankalp Yatra - विकसित भारत संकल्प यात्रा 2024

Republic Day Slogans in Hindi

  • “जहां मन भय रहित हो और सिर ऊंचा रखा हो, स्वतंत्रता के उस स्वर्ग में, मेरे पिता, मेरे देश को जागने दो।” – रवीन्द्रनाथ टैगोर
  • “संविधान केवल वकीलों का दस्तावेज नहीं है, यह जीवन का माध्यम है और इसकी आत्मा सदैव युग की भावना है।” – बी.आर. अम्बेडकर
  • “किसी राष्ट्र की ताकत उसके लोगों के घरों में निहित होती है।” – स्वामी विवेकानंद
  • “हम सबसे पहले और अंत में भारतीय हैं।” – बी.आर. अम्बेडकर
  • “आज़ादी दी नहीं जाती, ली जाती है।” -नेताजी सुभाष चंद्र बोस
  • “किसी राष्ट्र की संस्कृति उसके लोगों के दिलों और आत्मा में निवास करती है।” – महात्मा गांधी

What is a Republic Day essay in English?

26th January is one of the three national holidays of the country. Republic Day diverted our country from dominion rule to democracy and implemented the essence of Swaraj, thus permanently ending colonial rule in all forms.

What is the main point of Republic Day?

Republic Day is the day when the Republic of India marks and celebrates the date on which the Constitution of India came into effect on 26 January 1950. This replaced the Government of India Act 1935 as the governing document of India, thus turning the nation from a dominion into a republic separate from the British Raj.

गणतंत्र दिवस का मुख्य बिंदु क्या है?

गणतंत्र दिवस वह दिन है जब भारत गणराज्य उस तारीख को चिह्नित करता है और जश्न मनाता है जिस दिन 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान लागू हुआ था। इसने भारत सरकार अधिनियम 1935 को भारत के शासी दस्तावेज़ के रूप में प्रतिस्थापित कर दिया, इस प्रकार देश को एक प्रभुत्व से ब्रिटिश राज से अलग एक गणतंत्र में बदल दिया गया।

गणतंत्र दिवस का अर्थ क्या होता है?

गणतन्त्र दिवस भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है जो प्रति वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है। इस वर्ष 2024 में भारत का 75वां गणतंत्र दिवस मनाया जा रहा है। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों वर्ष 2024 के मुख्य अतिथि हैं। इसी दिन सन् 1950 को भारत सरकार अधिनियम (1935) को हटाकर भारत का संविधान लागू किया गया था।

भारत को गणतंत्र क्यों कहा जाता है?

एक गणतंत्र देश वह होता है जहाँ किसी विशेष राज्य का प्रमुख एक निर्वाचित व्यक्ति होता है, न कि कोई वंशानुगत राजा। भारत को एक गणतंत्र देश के रूप में जाना जाता है क्योंकि भारत की जनता राज्य सरकार के प्रमुख का चुनाव करती है । इसे भारत के संविधान में भी शामिल किया गया है।

गणतंत्र दिवस में राष्ट्रगान कितनी बार गाया जाता है?

भारत का राष्ट्रगान, “जन गण मन,” गणतंत्र दिवस परेड के दौरान 2 बार बजाया जाता है। गणतंत्र दिवस परेड की शुरुआत और अंत में राष्ट्रगान बजाया जाता है।

पहला भारतीय गणतंत्र दिवस कब मनाया गया था?

हालाँकि, आप सोच रहे होंगे कि देश ने 1950 में अपना पहला गणतंत्र दिवस कैसे मनाया था। गणतंत्र दिवस 26 जनवरी, 1950 को संविधान के कार्यान्वयन की याद दिलाता है। 15 अगस्त, 1947 को भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी मिली और 26 जनवरी, 1950 तक संविधान लागू नहीं हुआ।

26 जनवरी को राष्ट्रीय ध्वज कौन फहराता है?

जबकि गणतंत्र दिवस पर 26 जनवरी के मुख्य कार्यक्रम में देश के राष्ट्रपति शामिल होते हैं और वे झंडा फहराते हैं.

How do you end a speech on Republic Day?

On this great republic day, we all should take an oath to follow the Constitution and contribute in the best interest of our nation. Here, I would end my speech and would like to request to all of you and take out a moment of silence for the great souls, who have lost their lives for the freedom of this proud country.

Leave a Comment